IP Address क्या है और हम अपना आईपी एड्रेस कैसे पता करें

नमस्कार दोस्तों आप सभी का स्वागत है आज हम बात करेगें IP address क्या है के बारे में। तो दोस्तों इस आर्टिकल को आप ध्यान से पढ़िएगा क्योंकि मैं आपको इस आर्टिकल में IP address की संपूर्ण जानकारी विस्तार से बताने वाला हूं। तो फिर बिना देरी किये चलिए शुरू करते हैं और जानते हैं की ये आईपी एड्रेस क्या होता है।

IP address क्या है

Table of Contents

IP address क्या है।

IP address क्या है और ये कैसे काम करता है यह असल में संख्याओं का एक सेट है जो एक डिजिटल एड्रेस की तरह काम करता है। यानि कि कम्प्यूटर नेटवर्क से जुड़े डिवाइसेज की पहचान करने और उनके बीच information /data transfer करने में मदद करता है।

IP address का पूरा नाम Internet Protocol Address है। और यह एक डिवाइस से दूसरे डिवाइस के साथ communicate करने में मदद करता है। आपको बताना चाहूँगा कि हर डिवाइस का एक अलग IP address होता है।

और उसी से उस डिवाइस की पहचान होती है। System को Internet के साथ connect करने में इसका सबसे बड़ा योगदान है। IP Address को Internet का passport भी कहा जाता है।

उदाहरण :- जब आप अपने PHONE या COMPUTER को इंटरनेट से कनेक्ट करते हैं! तो आपके (INTERNET SERVICE PROVIDER) ISP द्वारा आपके डिवाइस को एक IP ADDRESS जारी किया जाता है। और इसी आईपी एड्रेस की मदद से आपके डिवाइस की पहचान होती है।

IP address के कितने version होते है।

IP Address के दो versions होते है।पहला – IPv4 और दूसरा – IPv6. और फर्क क्या है इन दोनों में? आइए, जानते हैं।

1. IPv4

IPv4 सबसे कॉमन आईपी वर्जन है, जो इंटरनेट की शुरुआत से लेकर अब तक चला आ रहा है। लेकिन अब इसकी सीमा समाप्त हो चुकी है। क्योंकि इसमें असीमित आईपी एड्रेस नहीं बन सकते है।

यह 32 बिट का होता है। IPv4 दशमलव की सहायता से चार हिस्सों में बंटा होता है।और इसका प्रत्येक हिस्सा 8 बिट्स का होता है। और इनकी प्रत्येक रेंज 0 से 255 के बीच होती है। यह कुछ इस तरह का दिखाई देता है:- 168.120.252.215

2. IPv6

पिछले कुछ सालों से इंटरनेट users की संख्या में तेजी से बढ़ते जा रही है। इस ही वजह से IPv6 को Develop किया गया, जिसमें Unlimited IP Addresses बन सकते हैं। IPv6 एक advance आईपी वर्जन है, जो कि 128 बिट का है। यह Colon के जरिए 8 भागों में बंटा होता है। यह कुछ इस प्रकार का दिखाई देता है: 3610:2854:6e08:49e0:cf6:3586:fb32:18 7d

IP ADDRESS के प्रकार

IP ADDRESS चार प्रकार के होते है।

1. Private IP address(प्राइवेट आईपी एड्रेस)
2. Public IP address (पब्लिक आईपी एड्रेस)
3. Static IP address (स्टेटिक आईपी एड्रेस)
4. Dynamic IP address (डायनेमिक आईपी एड्रेस)

आइए चारो का मतलब और फर्क जानते हैं।

1. Private IP address(प्राइवेट आईपी एड्रेस)

जो IP ADDRESS आपका Network Router आपके डिवाइस को Assign करता है। एक नेटवर्क के भीतर प्रत्येक डिवाइस को एक अलग IP Address Assign किया जाता है।

और इस तरह एक प्राइवेट नेटवर्क के भीतर सभी डिवाइसेज एक-दूसरे से Communicate or data transfer करते हैं। असल में, प्राइवेट आईपी एड्रेस आपके घर या ऑफिस के NETWORK को सुरक्षित रखने में सहायता करते हैं।

2. Public IP address (पब्लिक आईपी एड्रेस)

जो IP ADDRESS आपके ISP ( INTERNET SERVICE PROVIDER ) द्वारा आपके Network Router को Assign किया जाता है, वह पब्लिक आईपी एड्रेस कहलाता है। असल में आपके डिवाइस का एक private IP Address भी होता है।

लेकिन जब आप उसे इंटरनेट से कनेक्ट करते हैं तो वह आपके Router के पब्लिक आईपी एड्रेस के माध्यम से कनेक्ट होता है। इसीलिए उसका प्राइवेट IP ADDRESS छिप जाता है। यानि कि दूसरे तरफ पर सिर्फ आपके Router का PUBLIC IP ADDRESS ही दिखाई देता है।

3. Static IP address (स्टेटिक आईपी एड्रेस)

STATIC IP ADDRESS वैसे IP ADDRESS होते हैं जो की COMPUTER NETWORK में खुद से CREATE किये गए होते हैं| यह कभी भी CHANGE नहीं होता है| प्राइवेट आईपी एड्रेस में ज्यादातर स्टेटिक आईपी एड्रेस ही set किये जाते हैं| स्टेटिक आईपी एड्रेस हर device के नेटवर्क (ADMINISTRATOR) के द्वारा CREATE किये जाते हैं|

4. Dynamic IP address (डायनेमिक आईपी एड्रेस)

DYNAMIC IP ADDRESS वैसे IP address होते हैं जो की समय – समय पर परिवर्तन होते रहते हैं।और यह (AUTOMATICALLY ASSIGN) होते हैं| जब भी हम PUBLIC NETWORK का इस्तेमाल करते हैं तो हमें (DYNAMIC IP ADDRESS ASSIGN)होता है।

जो की कुछ समय तक ही VALID होता है और फिर से उस device को एक न्यू IP ASSIGN हो जाता है| डायनेमिक आईपी एड्रेस SECURITY PURPOSE के लिए BEST होता है| यह IP ADDRESS सबसे ज्यादा उपयोग होने वाला IP ADDRESS है|

IP ADDRESS CLASSES (आईपी एड्रेस क्लासेस)

क्या आप IP ADDRESS के अलग-अलग Classes के बारे में जानते हैं? कुछ लोग जानते होंगे। पर जो नहीं जानते, उनके लिए बताना चाहूँगा कि Network Size के आधार पर IP ADDRESS के 5 अलग-अलग Classes हैं। और ये Class A, B, C, D और E हैं।आइए, समझते हैंकि इन पाँचों का मतलब क्या है? और इनमें फर्क क्या है?

CLASS A (क्लास ए)

CLASS A, बड़े नेटवर्क के लिए इस्तेमाल होता है। इसमें कई सारे Hosts होते हैं। CLASS A IP ADDRESS के प्रथम 8 बिट (प्रथम हिस्सा) Network और अंतिम 24 बिट (आखिरी तीन हिस्से) Host Part का मार्गदर्शन करते हैं।

इस Class की Range 1 से लेकर 127 है। लेकिन 128.0.0.0 से लेकर 127.265.265.265 तक के आईपी एड्रेस (Loopback) के लिए निश्चित हैं। यानि कि इनका उपयोग नहीं किया जा सकता।

CLASS B (क्लास बी)

यह मध्यम आकार के नेटवर्क के लिए इस्तेमाल होता है। इसके IP ADDRESS में प्रथम 16 बिट (FIRST TWO PARTS) NETWORK और अंतिम 16 बिट (LAST TWO PARTS) HOST पार्ट का मार्गदर्शन करते हैं। वहीं अगर RANGE की बात करें तो CLASS B की रेंज 128 से 191 है।

Class C (क्लास सी)

यह छोटे आकार के NETWORKS के लिए प्रयोग होता है। इसके IP ADDRESS में प्रथम 24 बिट (FIRST THREE PARTS) नेटवर्क और अंतिम 8 बिट (LAST ONE PART) HOST पार्ट का मार्गदर्शन करता है। इस CLASS की रेंज 192 से 223 है।

Class D (क्लास डी)

CLASS D का उपयोग नियमित NETWORK मार्गदर्शन के लिए नहीं किया जाता। यह (Multicasting Application) के लिए मार्गदर्शन है। इस CLASS की RANGE 224 से 239 है।

Class E (क्लास इ)

CLASS E अपरिभाषित है। इसका उपयोग अभी तक परिभाषित नहीं किया गया है। इसकी RANGE 240 से 245 है। इसमें 240.0.0.1 से लेकर 254.255.255.254 तक के आईपी एड्रेस शामिल हैं। यह भविष्य में उपयोग किये जाने के लिए निश्चित है।

What is my IP Address?

अब सवाल यह है कि हम अपने DEVICE का IP ADDRESS कैसे चैक करें? तो इसका एक साधारण सा तरीका है जिसकी सहायता से आप जब चाहें, अपने DEVICE (फोन, टैबलेट, लैपटॉप, कम्प्यूटर, स्मार्टवॉच आदि) का IP ADDRESS CHEAK कर सकते हैं। इसके लिए,

आप जिस डिवाइस का IP ADDRESS CHEAK करना चाहते हैं, उसमें मौजूद किसी भी एक(WEB BROWSER) को ओपन कर लीजिए। उदाहरण के लिए CROME BROWSER, और उसमे SEARCH कीजिए MY IP ADDRESS और मेरा आईपी एड्रेस क्या है।

इसके अलावा आप (whatismyipaddress.com) पर जाकर भी अपने DEVICE का आईपी एड्रेस देख सकते हैं। यहाँ आपको IPv4 और IPv6 दोनों वर्जन्स मिल जाऐंगे। साथ ही आईपी एड्रेस की वर्तमान Location भी देखने को मिल जाएगी।

Who manages IP Addresses?

अब सवाल यह है कि IP Addresses को MANAGE कौन करता है? तो इसके लिए IANA (Internet Assigned Numbers Authority) जिम्मेदार है।

लेकिन आईपी एड्रेसेज को Distribute करने के लिए अलग-अलग Regions के हिसाब से अलग-अलग इकाईयाँ काम करती है। अर्थात् पूरी दुनिया में 5 Regional Internet Registries (RIRs) में बंटी आरक्षित है।

FAQ : –

IPv4 और IPv6 क्या है?

IPv4 और IPv6 दोनों ही IP Address हैं।दोनों का उपयोग नेटवर्क से जुड़ी मशीनों की पहचान करने के लिए किया जाता है।

आईपी एड्रेस के वर्जन 4 मे कितने बिट होते हैं?

आईपी एड्रेस के वर्जन 4 में 32 बिट होते है।

IP Address के वर्जन 6 में कितने बिट होते हैं?

IP Address के वर्जन 6 में 128 बिट होते है।

इंटरनेट में आईपी एड्रेस को क्या कहते हैं?

IP ADDRESS का पूरा नाम इंटरनेट प्रोटोकॉल एड्रेस होता है। इंटरनेट से जुड़े प्रत्येक कंप्यूटर या उपकरण को उसकी पहचान के लिए एक विशेष NUMERICAL ADDRESS दिया जाता है जिसे IP ADDRESS कहा जाता है । यह अंकीय पता (NUMERICAL ADDRESS ) इंटरनेट से जुड़ने पर (INTERNET SERVICE PROVIDER) द्वारा दिया जाता है ।

एक आईपी एड्रेस में कितने बिट्स होते हैं?

आईपी एड्रेस एक 32 बिट संख्या है जो चार बाइट्स में विभाजित है। यह कंप्यूटर नेटवर्क से जुड़े संचार के लिए इंटरनेट प्रोटोकॉल का उपयोग करता है। आईपी पते के दो संस्करण हैं: IPv4 (32 बिट्स) और IPv6 (128 बिट्स)।

आईपी एड्रेस की पहचान कैसे की जाती है?

IP address इंटरनेट पर उपयोगकर्ता (user) की पहचान होती है। इसे नंबरों (0-255) से दर्शाया जाता है। जिस प्रकार एक घर या ऑफिस का एड्रेस होता है उसी प्रकार इंटरनेट का समर्थन करने वाले स्मार्ट डिवाइस का भी अपना एक एड्रेस होता है। जिसे हम IP address कहते हैं।

क्या सिम कार्ड बदलने से आईपी पता बदल जाता है?

हाँ, सिम कार्ड बदलने पर IP address बदल जाता है. एक नेटवर्क के भीतर सभी devices को अलग-अलग IP addresses दिए जाते हैं।

आईपी एड्रेस कितने प्रकार के होते हैं?

IP address के दो प्रकार के (version) होते हैं IPv4 और IPv6.

आईपी नंबर क्या होता है?

आईपी एड्रेस नंबर कुछ इस प्रकार होता है 192.0.2.1

Leave a Comment